Vanilla Farming in India in Hindi | वनिला (वैनिला) की खेती कैसे करें

Vanilla Farming in India in Hindi – भारत देश के सभी किसान कई अलग अलग प्रकार की सब्जीया , फूल, फल और औषधीय पौधो की फसल उगाते और खेती करते है। वैसे ही आज हम हमारे किसानों को एक फसल की जानकारी देने वाले हैं। उसकी खेती से किसान को अच्छी कमाई भी हो सकती है। उसका नाम वनीला है। उसकी खेती करने से किसान को बहुत अच्छी और मोटी कमाई भी हो सकती है। वनिला (वैनिला) की कब और कैसे होती है ? करने के तरीका, खेती कैसे करें, लागत, मुनाफा और लाइसेंस की जानकारी बताएँगे 

कई देशों में वनीला की ज्यादा मांग है। एक रिपोर्ट बताती है कि विश्व भर में बनाये जाने वाली आइस्क्रीम में तकरीबन 40 % भाग वनीला फ्लेवर का हुआ करता है। उसके अलावा उन्हें कोल्ड ड्रिंक, केक, ब्यूटी प्रोडक्ट्स और परफ्यूम में भी प्रयोग किया जाता है। जिसके लिए किसान की खेती से बेहतर एव ज्यादा मुनाफ़ा मिलता हैं। अगर आप भी किसान है तो वनिला की खेती करें और आइसक्रीम को लाजवाब बनाने वाले वनिला की खेती शुरू करे तो चलिए जानते हैं इसकी खेती कैसे होती हैं एवं इससे होने वाले मुनाफे के बारे में जानकारी बताते है।

वनिला (वैनिला) की खेती कैसे करें
वनिला (वैनिला) की खेती कैसे करें

What is Vanilla –

एक प्रकार का फल जिसे आइसक्रीम बनाने में प्रयोग किया जाता है। उस को वनिला कहते है। जिसके उत्पादन के लिए खेती करके पकाया जाता है। एक रिपोर्ट देखे तो दुनिया में बनने वाली सभी आइसक्रीम में 40 % आइसक्रीम में वनीला फ्लेवर जरूर पाया जाता है। आपको बतादे की यह फल की खेती करने के लिए कोई अलग स्थान की जरुरत नहीं होती है। उन्हें हर किसान अपने खेत में उगा सकता है। सिर्फ आइसक्रीम ही नहीं बल्कि के कोल्ड ड्रिंक एव और भी कई खाने के प्रोडक्ट में कई फ्लेवर का उपयोग होता है। जिसमे यह वनीला आर्किंड भी सब में से एक है।  

इसके बारेमे भी पढ़िए –  ड्रैगन फ्रूट की उन्नत खेती कैसे करे

फल से निकलते हैं बीज

यह एक बेल पौधा वनीला को ऑर्किड परिवार का सदस्य कहाजाता है। बेल पौधा का तना बेलनकार लंबा दिखाई देता है। उसके फल के साथ उनके फूल भी ज्यादा सुगंधितदार होते हैं। वह एक मेडिकल की कैप्सूल से दिखने वाला फल होता हैं। आपको बतादे की वनीला के एक फल से कई ज्यादा बीज प्राप्त होते हैं। जिससे किसानो को ज्यादा पैसो का मुनाफा प्राप्त होता है।

vanilla flower

Vanilla Farming – वनिला की खेती कैसे करें

वनीला के लिए उपयुक्त मिट्टी और खेत की तैयारी

  • वनीला की खेती के लिए मिट्टी भुरभुरी और जैविक पदार्थों से भरपूर होनी चाहिए।
  • उसका पी.एच.मान लगभग 6.5 से 7.5 तक होना जरुरी है।
  • आपकी जमीन की मिट्टी जांच करने के बाद ही वनीला रोपना चाहिए।
  • जिससे वेनिला की फसल की उपज ज्यादा और अच्छी रहती है।  
  • पौधों के अच्छे विकास होने के लिए चिकनी मिट्टी में नहीं लगाए।
  • वेनिला की फसल गर्म एवं आर्द्र जलवायु में अच्छी होती है।
  • वेनिला के खेत में जलजमाव की समस्या के लिए जल निकासी जरुरी है।

Vanilla Farming का तापमान –

25 से 35 डिग्री तापमान में यह फसल अच्छी प्राप्त होती है। तापमान के साथ फसल को छाया, ह्युमिडी और मध्यम तापमान की जरुरत भी होती है। वैसे देखे तो यह फसल के लिए अनुकूलित तापमान सभी जगह नही मिलता है। लेकिन अगर आप लगाना चाहते है। तो थोडी मेहनत से आसानी के साथ यह तापमान बना सकते है। और वनीला की फसल 3 साल बाद पैदावार देना शुरू करती है।

Vanilla Farming photo

समय

वनीला की फसल को उगाने में लगभग 8 से 10 महीने का समय लगता है। जिसके पश्यात वेनिला तक़रीबन 3 साल के समय के बाद किसान को फल देने लगता है।  

Vanilla Farming का मौसम –

वेनिला प्रकार की खेती करने के लिए और उस पौधे को उगाने में एक खास तापमान की जरुरत रहती है। मौसम केवल गर्मी में ही उगाया जाता देखने को मिलता है। वनीला फसल को सिर्फ गर्मीयो के सीजन में ही लगाना उचित माना जाता है। लेकिन वनीला की फसल की खेती के लिए संतुलित तापमान भी जरुरी है। जो सिर्फ गर्मियों में ही देखने को मिलता है।  

Vanilla Farming में खाद एवं उर्वरक

vanilla plant

उर्वरक एवं खाद की मात्रा बताये तो मिट्टी में मौजूद पोषक तत्वों से ही बताया जाता है। कुदरती खाद यानि खेत में गोबर की खाद या वर्मी कंपोस्ट भी डाल जरुरी हैं। वर्मी कंपोस्ट से खेत की मिट्टी में जैविक पदार्थों की कमी पूरी हो जाती है। जिससे आपकी कोई भी फसल बेहतर और ज्यादा प्राप्त होती है। मगर आमतौर पर एक पौधों 20 से 30 ग्राम फास्फोरस, में 40 से 60 ग्राम नाइट्रोजन, और 60 से 100 ग्राम पोटाश का उपयोग करना चाहिए। 

वनीला की बुवाई

वनीला की खेती में रोपाई दो प्रकार होती है। वनीला के पौधों को कटिंग और बीज दोनों माध्यम से लगाते है। रोपाई में वेनिला के बीजों का उपयोग कम किया जाता है। जिसका कारन उसके दाने छोटे और उगने में काफी समय भी लगता है। इसीसलिए बेल लगाना सबसे  विकल्प जिसे लोग पसंद करते है। बेल की पहले स्वस्थ कटिंग करके वातावरण में नमी लगे तब उसको खेत में लगा दें। कटिंग लगाते समय उसके साथ साथ गोबर की खाद या वर्मी कम्पोस्ट भी मिलाये।  रोपाई में 8 फीट की दूरी पर लगाएं।

Images for Vanilla Farming
Images for Vanilla Farming

 बीज की कीमत –

भारत देश में वनीला बीजों की कीमत 1 किलो के लिए 40 से 50 हजार रुपए लगता है। ब्रिटेन में 600 डॉलर प्रति किलो भाव से बिकता है। ऐसा कहे तो कुछ गलत नहीं है। की यह बीज सोने – चांदी के जैसा महंगा बिकता है। 

इसके बारेमे भी पढ़िए –  कृषि क्या है, कृषि का अर्थ एवं परिभाषा

वनीला लगाने के बाद –

  • वैनिला लगाने के बाद के टपक विधि या फव्वारा पद्धति से 2 दिन के बाद पानी देना है। 
  • 1 किलो एनपीके को 100 लीटर पानी में घोलकर वनीला के खेत में छिड़कना है। 
  • वनीला के खेत में पौधो को नीम केक,  केंचुए की खाद और गोबर खाद डालना चाहिए। 
  • वनीला की बेलों को 150 सेमी से अधिक ऊपर फैलाना नहीं है। 
Vanilla Farming Images

Vanilla Farming में सिंचाई एवं तुड़ाई –

आप अपने खेत की मिट्टी में मौजूद नमी और आवश्यकता के अनुसार पानी दे यानि सिंचाई करें। पौधों से फूल निकलने के पश्यात फलियों को तैयार होंने में 6 से 9 महीने का समय होता है। फलियां हल्की पीली रंग की हो ने के बाद उन्हें तब यह विकसित यानि पकी हुई मान कर आप उसकी तुड़ाई कर सकते है। वेनिला के फलियों की लंबाई 12 से 25 सें.मी होती है। अगर कच्ची फली की तुडाई की तो उपज घटित होगी और अत्यधिक विकसित फली संसाधन के समय फट जाएगी । फली को चाकू से कट कर भी तुडाई कर सकते है । एक साल में 300-600 कि. ग्राम उच्च गुणवत्ता युक्त वैनिलिरी फली प्रति हेक्टर मिलती है । तक़रीबन 6 कि.ग्राम हरी फलियों से 1 कि.ग्राम कार्ड बीन मिलता है ।

Vanilla Seeds

वनीला के बीज कहां पर मिलते है ? तो आपको बतादे के Orkid family का वनीला एक प्रकार का बेल पौधा है। उसके फल और फुल बहुत ही सुगंधित होते है।  उसकी तहनीया कैप्सूल की तरह दिखती है। बेल पौधा के फल से ढेरों बीज प्राप्त होते है। वनीला पैड़ ग्वाटेमाला, मध्य अमेरिका और दक्षिण पूर्वी मेक्सिको जैसे देशों में उगाया जाता है। उसके पश्यात आज के समय में वेस्टइंडीज, जमैका, जावा, मेडागास्कर, ताहिती, युगांडा, टांगो और जंजीबार जैसे देशो में भी उपलब्ध है। 

Vanilla farming ideas

वनीला फसल का बाजार

कोई भी नई खेती को करने से पहले बाजार की जानकारी पता करना बहुत जरुरी है। बाजार में ज्यादातर मिलती आइसक्रीम वनीला फ्लेवर की होती है। यह खेती करने के आपको नुकसान नहीं होता है। क्योकि उसकी बाजार कीमत 40 हजार रु प्रति किलो बताई जाती है। 

वनीला Vanilla की खेती कैसे करें Video –

Interesting Fact –

  • वनीला की खेती के लिए ह्यूमिडिटी, छाया और मध्यम तापमान की आवश्यकता होती है। 
  • 25 से 35 डिग्री सेलसियस तक के तापमान पर इसकी पैदावार अच्छी प्राप्त होती है। 
  • फव्वारा सिंचाई विधि से वनीला की खेती कर सकते है। 
  • वनीला की फसल लगभग 3 साल बाद पैदावार देने लगती है। 
  • बाजार में ज्यादातर मिलने वाली आइसक्रीम वनीला फ्लेवर की ही होती है। 
  • वनीला फसल की खेती करके अच्छी कमाई कर सकते हैं।
  • दुनिया में जितनी भी आइस्क्रीम बनती है, उसमें से 40% वनीला फ्लेवर की होती हैं।
Vanilla Farming Photos

इसके बारेमे भी पढ़िए –  रोमनेस्को फूलगोभी कैसे उगाएं ?

Vanilla Farming FAQ –

Q : वनिला क्या होता है ?

आइस्क्रीम में तकरीबन 40 % भाग वनीला फ्लेवर का हुआ करता है। कोल्ड ड्रिंक, केक, ब्यूटी प्रोडक्ट्स और परफ्यूम में प्रयोग किया जाता है।

Q : क्या वनीला एक फल है ?

Ans : वनीला का फल ऑर्किड परिवार एक खाद्य फल है। 

Q : वनीला के फसल को तैयार होने मे कितना समय लगता है?

Ans : वनीला के फसल को तैयार होने मे 3 साल लगते है।  

Q : क्या वनीला का फल खाने में अच्छा है ?

Ans : स्वास्थ्य के लिए वनीला का फल अच्छा मानाजाता है। जिसे आइसक्रीम बनाने में प्रयोग होता है। 

Q : वनीला की खेती कौन से महीने में की जाती है?

वनीला की खेती केवल गर्मी में ही उगाया जाता है।

Vanilla Farm Photos

Conclusion –

आपको मेरा Vanilla Farming in India in Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये हमने vanilla farming profit in india , सबसे महंगी बिकने वाली फसल

और वेनिला स्वाद कहाँ से आता है से सम्बंधित जानकारी दी है।

अगर आपको अन्य किसी खेत उत्पादन के बारे में जानना चाहते है। तो कमेंट करके जरूर बता सकते है।

Note –

आपके पास भारत में सबसे अधिक लाभदायक फसलों,
वनीला कैसे बनता है या vanilla plant की कोई जानकारी हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो दिए गए सवालों के जवाब आपको पता है। तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published.